Story of Control Freaks – नियंत्रण शैतान


January 15th, 2012
by

अगर कभी आप अपने इस शहर की गलिओं में टहलने के लिए निकलेंगे तो हर मोड़ पर आपकी मुलाक़ात एक Control Freak या नियंत्रण शैतान से होगी. अब आप सोच रहे होंगे ये किस तरह के लोग होते हैं ? जी हाँ ये वो लोग होते हैं जिनके मन में हारने का डर होता है. ये लोग हमेशा दुखी और असुरक्षित महसूस करते हैं. ये हमेशा घर या ऑफिस के वातावरण को खराब करने वाले होते हैं. ये किसी भी व्यक्ति का विश्वाश नहीं करते और उनको लगता है की उनके आसपास का हर व्यक्ति गलत है. ये अपने समक्ष खड़े हुए व्यक्ती को समझने की बजाए उसे समझाने लगते हैं और अपने मन में ये सोच लेते हैं की कोई उनसे अच्छा नहीं कर सकता. ये लोग महावीर, बुद्द, तुलसीदास और अन्य संतों को भी नहीं समझते हैं और अपने आप को विजेता धोषित कर देते हैं. ऐसे लोग राजा पौन्द्रक की तरह होते हैं जो मोर पंख लगा कर और मुरली हाथ में लेकर अपने आप को भगवान् समझने लगते हैं और भूल जाते हैं ही वो कितनी बड़ी मुर्खता कर रहे हैं. अगर ऐसे लोग आपको मिलते हैं तो उनके साथ आपको शांत और धर्य पूर्ण व्यवहार करना होगा. और अगर ऐसा व्यक्ति आपके बहुत क्लोस है तो आपको उसको माफ़ करना होगा. ऐसे व्यक्ति से आपको बचना होगा क्योंकि इनके जीवन का एक ही लक्ष्य होता है. दूसरों का और अपना समय व्यर्थ करना. ऐसे व्यक्ति की सामना करने की शक्ति कम होती है, और वो आसानी से किसी की बात को स्वीकार नहीं करता. उसके लिए किसी की विजय स्वीकार कर पाना बहुत मुश्किल होता है. अगर ऐसे व्यक्ति के साथ आप बिज़नस कर रहे हैं तो ये समझ लीजिये की आपके ideas की कभी भी कोई value नहीं होगी क्योंकि ये व्यक्ति हमेशा उन्हें रिजेक्ट कर देगा. अगर आप ऐसे व्यक्ति के साथ बिज़नस partnership में हैं तो आपको हमेशा उससे सहमत होना पड़ेगा नहीं तो इसका अंजाम अछा नहीं होगा. ऐसी लोग अपने आप से पूर्णता की मांग करते रहते हैं और हम सब ये जानते हैं की पूर्णता प्राप्त करना असंभव नहीं है पर आसान भी नहीं है. आप ऐसे लोगों से बचकर अपने जीवन को शांत और सुखमय कर सकते हैं लेकिन उनका जीवन कभी भी शांत और सुखमय नहीं होगा क्योंकि ऐसे लोग कभी अपने विचारों को बदल नहीं सकते. ऐसे लोग अपने बड़ों को भी worthless समझते हैं और उनके द्वारा दिए गए निर्देशों को नहीं सुनते. अगर आप सोचते हैं की आप उसे बदल सकते हैं तो आप भ्रम में हैं. इनका काम अन्य लोगों में दोष निकालना होता है और ये किसी भी काम को आराम से अंजाम तक पहुंचाने में सक्षम नहीं होते. अगर आप ऐसे किसी व्यक्ति को डेट कर रहे हैं तो वो इर्ष्या और दोष का सहारा लेकर आपको नीचा दिखाएगा. ऐसे व्यक्ति जीत की चाह में भावुकता, चिंता, देखभाल का सहारा लेते हैं जो की एक ढोंग के अलावा कुछ नहीं है. ऐसे लोग नातेदारी में अगर आप के लिए सब कुछ करने के लिए तईयार हो जाते हैं तो समझ लीजिये आप एक बड़ी आपदा के लिए आगे बड रहे हैं. अगर आप सचाई देखना चाहते हैं तो उनको कहिये की आपकी इस सप्ताह के लिए कोई अन्य योजना है, फिर उनका response देखिये. आपको हमेशा समझोता करना होगा. और आपके compromise करने के बाद ऐसा व्यक्ति खुश होगा और वो नहीं समझेगा की आपने जो किया वो अपने relationship को बचाने के लिए किया. ऐसे व्यक्ति विनाश की बात सुनकर हमेशा हंसेंगे. ऐसे लोगों को हास्य प्रदान करें और इनसे बचे. अगर आप किसी चीज़ में या अपने आप में कामिआं जानना चाहते हैं तो ऐसे लोग बहुत मददगार साबित हो सकते हैं क्योंकि इनको हर चीज़ में कभी कोई अछाई नहीं दिखती. एक बार उनसे सवाल कीजिए फिर देखिये की वो आपको एहसास करवाएंगे की आप परनोइड हैं. हम जब भी ऐसे लोगों से सम्बन्ध तोड़ते हैं तब हमे सावधान रहने की आवशयकता है. इनको कभी अस्वीकार मत कीजिये बल्कि कोशिश कीजिये की वो आपको अस्वीकार कर दें. नियंत्रण फ्रीक हम में से किसी में भी हो सकता है इसलिए जरुरत है उसको आज ही आजाद करने की. महाभारत काल में अगर भगवान् कृष्ण दुर्योधन को समझाने का कार्य करते रहते तो शायद कभी भी सचाई और धर्म की विजय नहीं होती. ये काम सिर्फ एक बार ही होता है. अगर कृष्ण धर्म के अवतार और ज्ञानी पुरुष युधिस्थिर को समझाने का कार्य करते रहते तो गुरु द्रोण पर विजय कैसे प्राप्त होती. हमेशा याद रखिये की आपको अपना जीवन आजादी से जीने का पूरा हक है और ऐसे नियंत्रण शैतान को एक बार समझाया जा सकता है, बार बार नहीं.

LinkedInPinterestGoogle+FacebookTwitterRedditEmail

Leave a Reply